एंट्री की तर्ज पर हो रही वसूली परिवहन अधिकारी ने खड़े होकर की वसूली

 वाहनो से इंट्री वसूली के नाम पर बदनाम आरटीओ विभाग उड़नदस्ता एक बार फिर इंट्री वसूली को लेकर सुर्खियों आ गई है। शहडोल आरटीओ फ्लाइंग स्काट इन दिनों  शहडोल रीवा मार्ग ब्यौहारी में वाहन चेकिंग के नाम पर  ट्रक चालक से इंट्री वसूली कर रहे है । इतना ही नही वसूली की एक डायरी बना रखी है   जिसमे नम्बर के हिसाब से सड़क पर दौड़ रहे वाहन चालको से खुलेआम पैसा वसूलने का वाहन चालकों ने आरोप  लगाया है ।  



 हमेशा सुर्खियों में रहने वाली आरटीओ उड़नदस्ता  एक बार फिर शुर्खियो में है । आपको बता दे की शहडोल - रीवा मार्ग ब्यौहारी  पर आरटीओ फ्लाइंग स्काट द्वारा बड़े वाहनो के चेकिंग के नाम पर वाहन चालको से अवैध वसूली कर रहा है।   । जिससे इस रूट से गुजरने वाले वाहन चालकों को इस अवैध वसूली से भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।  इतना ही नही बाकायदा एक डायरी बनाई गई है। जिसमे एक  वाहन चालकों को एक माह तक के लिए इस रूट से आने जाने के लिए एक नंबर कोड दिया जाता है।  उसी के आधार पर उनसे एक माह का पैसा लिया जाता है। उदाहरण के तौर पर   1 नम्बर  में 1000 हजार और 25 नम्बर पर 2500 छोटे बड़े वाहनों को अलग अलग निर्धारित राशि के हिसाब से पैसा लिया जाता है।  जिसके एवज में एक पीले रंग की साधारण रसीद भी जाति है।  जिसमे न तो विभाग का नाम होता है और न ही कोई पहचान, इसी दौरान वहां से गुजरने वाले वाहनो से चेकिंग के नाम पर 2 से ढाई हजार  रुपये की एंट्री वसूली किये जाने का ट्रक चालक ने आरोप लगाया है । 


 कोविड काल मे यदि सबसे ज्यादा कोई प्रभावित हुआ है तो वो है ट्रांसपोर्टर ( वाहन मालिक ) एक तो कोविड के मार और दूसरा आरटीओ स्काट द्वारा वाहन चालकों से चेकिंग की नाम पर अवैध वसूली से वाहन चालक परेशान है,शहडोल रीवा मार्ग पर आरटीओ आरटीओ स्काट द्वारा वाहन चेकिंग के नाम पर वहां से गुजरने वाले ट्रक चालकों से इंट्री वसूली की जा रही थी ,  उड़नदस्ता टीम में कथित तौर पर आरटीओ उड़नदस्ता विभाग के एएसआई  

धर्मवीर सिंह , सिपाही रोहित दुबे, वाहन चालक रत्नेश सिंह, महेंद्र सिंह  समेत 2 अन्य लोगो शामिल रहे है।  इसी दौरान मौके पर कुछ मीडिया कर्मी पहुचे और उनकी वसूली की कुछ गतिविधियां अपने कैमरे में कैद कर ली ।  जैसे ही स्काट के अधिकारी मीडिया का कैमरा देखा की उनकी गतिविधि कैमरे कैद हो रही उन्हें दिन में तारे दिखने लगे । और वो मौके से आनन फानन में भाग निकले ....


 जिस तरह से आरटीओ फ्लाइंग स्काट के वरिष्ठ अधिकारी के मौजूदगी में खुलेआम इंट्री वसूली की जा रही थी । इससे यह बात तो स्पस्ट हो गई की स्काट चेकिंग के नाम पर आज भी वाहनो से पैसों की वसूली की जा रही है । वाहन चेकिंग के दौरान आरटीओ विभाग में तैनात होमगार्ड के सिपाही अपने अपने नाम का बैच निकाल रखा था । शायद उन्हें इस बात का डर था कि उनकी यह करतूत का पता न लग जाये । उनसे जब उनके बैच के बारे में पूछा गया तो वे कैमरे के सामने से भागते नजर आए। 

 वही जब इस मामले में आरटीओ विभाग के स्काट अधिकारी से इस संबंध में चर्चा की गई तो वे गोल मोल जबाब देते हुए इंट्री वसूली नही किये जाने की बात कही । 


Post a Comment

ज्यादा जानकारी के लिये हमारी बेवसाईड https://www.zerobeat.in/ पर बने रहे! अपने विचार व्यक्त करने के लिए कमेंट करें

Previous Post Next Post