बजरंग दल कार्यकर्ता ने 111 दिन में दूसरी बार रक्तदान कर बचाई युवक की जान

प्रयास रक्तदान सेवा समिति ने प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया 



रीवा || परहित सरिस धरम नहिं भाई पर पीड़ा सम नहिं अधमाई इन्ही पंक्तियों को चरितार्थ करते हुए पं बालकृष्ण द्विबेदी ने 111 दिन में दूसरी बार युवक की जान बचाने के लिए रक्तदान किया, जब समाज मे किसी बीमार असहाय के लिए अस्पताल में ब्लड नही उपलब्ध हो पाता और जब वो ब्लड की खोज में भटकना शुरू करता है तो अक्सर लोगो के द्वारा कहा जाता है बजरंजदल के लोगो से संपर्क करो,ऐसा ही वाक्या होने फोन पर फोन की घण्टी बजती है पीड़ित ने कहा कि उनके मरीज का एक्सीडेंट होने के कारण ब्लड ज्यादा बह गया है जान को खतरा है ब्लड देने वाला कोई नही है,पं बालकृष्ण द्विवेदी ने अपने सहयोगी हरिओम तिवारी,शिवम पांडेय और अन्य के साथ तत्परता के साथ संजय गांधी हॉस्पिटल पहुँच कर पीड़ित की मदद खुद ब्लड दे कर की,पं बालकृष्ण द्विवेदी के इस सराहनीय कार्य की प्रशंशा पूरा बजरंजदल परिवार अपने संयोजक के द्वारा किए नेक कार्य से गर्व महसूस करता है और पं बालकृष्ण ने कहा है कि भविष्य में ऐसे पीड़ित लोगों की मदद करते रहेंगे, 

बिभाग मंत्री अतुल पांडेय,जिला अध्क्षय मनीष भार्गव,जिला संयोजक दिव्यांशु गौतम,जिला सहसंयोजक हरिओम तिवारी,नगर अध्क्षय एडवोकेट आनंदमूर्ति तिवारी,नगर मंत्री सुमित दिगवानी,नगर सयोंजक आशीष सेन,प्रयास रक्तदान सेवा समिति के अध्क्षय अविनीश तिवारी,मनु शुक्ला,सुधांशु मिश्रा,अरविंद तिवारी,मनीष अग्निहोत्री छोटू,भाजपा नेता जितेंद्र अग्निहोत्री,शिवम पांडेय समेत कई सामाजिक संगठनों ने पं बालकृष्ण के नेक कार्य की सराहना करते हुए उवज्जल भविष्य की शुभकामनाएं प्रेषित की है |

Post a Comment

ज्यादा जानकारी के लिये हमारी बेवसाईड https://www.zerobeat.in/ पर बने रहे! अपने विचार व्यक्त करने के लिए कमेंट करें

Previous Post Next Post