सिंगरौली में निर्माणाधीन सीवर लाइन में उतरे तीन श्रमिकों की दम घुटने पर मौत

करीब दो घंटे बाद एनटीपीसी की सीआइएसएफ टीम ने रेस्क्यू कर बाहर निकाला शव

सिंगरौली
 सिंगरौली


एमपी के सिंगरौली जिले के . निर्माणाधीन सीवर लाइन में सफाई व मरम्मत करने उतरे तीन श्रमिकों की जहरीली गैस से दम घुटने पर मौत हो गई। शुक्रवार को साम करीब 4 बजे की  यह घटना जिला मुख्यालय से तीन किलोमीटर दूर बैढऩ-कचनी मुख्य मार्ग में हुई। श्रमिक करीब 30 फीट गहरे सीवर में उतरे थे, लेकिन वह जहरीली गैस की चपेट में आने से बाहर नहीं निकल सके और दम घुटने से उनकी मौत हो गई। 

घटना के संबंध में बताया गया कि शहरी क्षेत्र में निर्माणाधीन सीवर लाइन का कचनी में सफाई व मरम्मत का कार्य चल रहा है। निर्माण कार्य केके स्पन कंपनी द्वरा कराया जा रहा है। बताया गया कि शाम करीब चार बजे दो श्रमिक सीवर लाइन में मरम्मत कार्य करने की मंसा से उतरे। बाहर से एक श्रमिक उनकी लोकेशन लेने मौजूद था। सीवर लाइन में उतरने के बाद जब दोनों श्रमिकों की ओर से कोई जवाब नहीं मिला तो घबड़ा कर उन्हें देखने के लिए वह खुद भी पाइप लाइन में नीचे उतर गया। 

जब उसकी ओर से भी कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली तो साथ काम कर रहे श्रमिकों को कुछ गड़बड़ समझ में आया और उनकी ओर से शोर मचाया गया। शोर सुनकर बाजार के लोग वहां एकत्र हो गए। नगर निगम और प्रशासन को सूचना दी गई।

घटना की जानकारी होने पर सबसे पहले अपर कलेक्टर डीपी बर्मन व एसडीएम ऋषि पवार पहुंचे और राहत कार्य शुरू कराया गया। एनटीपीसी से सीआइएसएफ की टीम बुलाई गई। करीब दो घंटे बाद करीब साढ़े 5 बजे जब टीम ने पहुंचकर श्रमिकों को गड्ढे से बाहर निकाला तो उनकी सांसे थम चुकी थी। अधिकारियों के मुताबिक घटना में श्रमिक कन्हैयालाल यादव पिता छोटेलाल यादव निवासी चांचर, नरेन्द्र कुमार रजक पिता रघुनाथ रजक निवासी चिनगी टोला तेलदह व इंद्रभान सिंह पिता देवराज सिंह निवासी भोइपुरा बुधवारा भोपाल की जहरीली गैस से मौत हो गई है।

उन्हें सीवर लाइन से मृत अवस्था में निकाला गया। इधर राहत कार्य शुरू होने के साथ ही कलेक्टर राजीव रंजन मीना व एसपी बीरेंद्र कुमार सिंह के अलावा भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दी गई। घटना के मद्देनजर लोगों में भारी रोष देखा गया। मौके पर एक हजार से अधिक लोग देर शाम तक जमा रहे। पुलिस ने इस मामले में कंपनी के विरूद्ध धारा 304, 34 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध किया है।

कंपनी की लापरवाही

नगर निगम सिंगरौली के सीवरेज का काम कर रही संविदा कंपनी के,के स्पन्द पर मृतक के परिजनों ने लापरवाही का आरोप लगाया है । मृतक के परिजनों ने बताया कि कंपनी मजदूर को सुरक्षा के कोई उपकरण प्रदान नही किये थे , इसके पहले भी इस तरह की लापरवाही की वजह से मजदूर की मौत हो चुकी है । 

वही इस पूरे घटना को लेकर अब कांग्रेस के जिलाध्यक्ष अरबिंद सिंह चंदेल ने मृतक के परिजनों को 15 लाख मुआवजा राशि व नोकरी दिए जाने की जिला प्रशासन से मांग की है । मांग पूरी न होने पर आमरण अनशन की चेतावनी दिए है ।

Post a Comment

ज्यादा जानकारी के लिये हमारी बेवसाईड https://www.zerobeat.in/ पर बने रहे! अपने विचार व्यक्त करने के लिए कमेंट करें

Previous Post Next Post